Trending

गाजीपुर स्थित कूड़े के पहाड़ पर बार-बार लगी आग

गाजीपुर स्थित कूड़े के पहाड़ पर बार-बार लगी आग भाजपा शासित नगर निगमों की भारी चूक और भ्रष्टाचार को उजागर करती है-चौ. अनिल कुमार

गाजीपुर स्थित कूड़े के पहाड़ पर बार-बार लगी आग
गाजीपुर दिल्ली

गाजीपुर स्थित कूड़े के पहाड़ पर बार-बार लगी आग

गाजीपुर स्थित कूड़े के पहाड़ पर बार-बार लगी आग भाजपा शासित नगर निगमों की भारी चूक और भ्रष्टाचार को उजागर करती है-चौ. अनिल कुमार

गाजीपुर स्थित कूड़े के पहाड़ पर बार-बार लगी आग

नई दिल्ली : (अर्श न्यूज़) – रविवार को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने कहा कि गाजीपुर कचरे के पहाड़़ पर लगी आग भाजपा शासित नगर निगमों के भारी लापरवाह और भ्रष्टाचार को उजागर करती है। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि एमसीडी ने हाल ही में उसी साइट पर लगी भीषण आग जिसकों बुझाने में 50 घण्टे से अधिक का समय लगा था उससे भी कोई सबक नहीं सीखा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी पिछले सात वर्षों से स्वच्छ भारत अभियान और अन्य क्रांतिकारी तकनीकी प्रगति के बारे में बड़ी-बड़ी बातें करते है लेकिन फिर भी उनकी सरकार इस समस्या को हल करने के लिए कुछ नहीं कर सकी और नाही दिल्ली की जीवन रेखा माने जाने वाली यमुना नदी की सफाई में कोई सुधार ला सकी।

गाजीपुर स्थित कूड़े के पहाड़ पर बार-बार लगी आग

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार एमसीडी चुनाव स्थगित करने के लिए दिल्ली के तीनों नगर निगमों का विलय करने की जल्दी में है, लेकिन भाजपा द्वारा 15 साल के भ्रष्ट कुशासन के कारण गाजीपुर में कूड़े के ढेर को साफ करने के लिए कोई विशेष ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

गाजीपुर स्थित कूड़े के पहाड़ पर बार-बार लगी आग

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि भाजपा नेताओं और पार्षदों ने गाजीपुर कचरे के पहाड़ को साफ करने के लिए ट्रोमेल मशीन लगाने में सैकड़ों करोड़ रुपये खर्च किए, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ और लैंडफिल का क्षेत्र ओर अधिक फैलता गया।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने लैंडफिल मेस के संबंध में भाजपा अपनी जिम्मेदारी से बचने के लिए यह तर्क दे रही है कि इस प्रकार के विशाल कचरे के ढेरों को साफ करने में कम से कम 10 साल और हजारों करोड़ लगेंगे।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि भाजपा ने अपने भ्रष्टाचार के “स्मारक” माने जाने वाले गाजीपुर, भलस्वा और ओखला में मौजूदा तीन लैंडफिल का विवेकपूर्ण उपयोग करने के बजाय दिल्ली विकास प्राधिकरण को गाजीपुर पेपर मील भूमि आवंटित करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इसका पुरजोर विरोध करेगी, क्योंकि मौजूदा तीन लैंडफिल न केवल लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरा हैं, बल्कि दिल्ली में प्रदूषण का एक प्रमुख स्रोत भी हैं।

चौ. अनिल कुमार ने एमसीडी के विलय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से अपील की कि वें इस मामले को गम्भीरता से लें और दिल्लीवासियों के स्वास्थ्य और राष्ट्रीय राजधानी के पर्यावरण की रक्षा के लिए लैंडफिल साइटों पर पुराने कचरे को साफ कराया जाए।

 

Live Share Market

विडिओ  न्यूज जरूर देखे 

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close